Stories related to Hindi stories

  • 320

    पति देवता

    February 27, 2018 0

    कुछ औरतें काफी देर से इकट्ठे होकर आपस में अपने पति देवताओं की प्रशंसा के गुण गा रही थी| कुछ समय बाद गांव से आई सरला बोली, "मुझे समझ नहीं आती, यह स्त्रियां अपने पतियों की बुराई कैसे कर लेती…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 240

    नेपोलियन की नीति

    May 25, 2017 0

    नेपोलियन ने जब कभी भी किसी छावनी में जाना होता था तो वह पहले, अपने गुप्तचरों से, एक बहादुर फौजी के बारे में, उसके जन्म स्थान के बारे में, उसके माता पिता व उसका परिवार, उसकी ओर से लड़ी जा…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 349

    घर जाकर बोल दूंगा

    May 4, 2017 0

    पुराने समय की बात है| एक गांव में एक सेठ रहता था| उसका नाम नथूलाल था| वह जब कभी भी बाज़ार और गांव के बीच से गुजरता तो गांव के लोग उस को सलाम करते थे, वह आगे से अपना…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 498

    इनसान और जानवर की प्रति वफादारी में फर्क

    April 6, 2017 0

    अर्ब देश के एक बुद्धिमान वज़ीर ने बादशाह की तीस साल ईमानदारी से सेवा की, परन्तु उस वज़ीर से दुखी दरबारियों ने बादशाह के कान भर दिए और उस पर गंभीर आरोप लगवा कर उसे फांसी की सज़ा करवा दी|…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 149

    एक गंभीर रहस्य

    April 1, 2017 0

    एक साधु बहुत दिनों से एक नदी के किनारे बैठा था| एक दिन एक व्यक्ति ने पूछा कि आप यहाँ क्या कर रहे हो| साधु ने उसे उतर दिया के मैं नदी का सारा पानी जाने का इंतजार कर रहा…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 142

    वाहगुरु की अच्छाई और सर्व व्यापकता पर भरोसा

    March 22, 2017 0

    एक मित्र को यह चिंता लगी रहती थी कि उसने जिस व्यापारी के साथ पन्द्रह दिन बाद मुलाकात करनी है, वह मुलाकात सफल होगी भी या नहीं, कहीं कोई गलतफहमी ओर ना बड़ जाए | उस मित्र को एकदम से…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 85

    कौम के खतरे का राज़

    March 13, 2017 0

    किसी भी कौम को खत्म करने के लिए सबसे पहली बात यह करनी होती है कि उस की याद शक्ति को खत्म कर दो| उसकी सभी पुस्तकें तबाह कर दो| एक नया सभ्य-चार बनाओ| और एक नया इतिहास भी बना…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 207

    गुनाह

    March 13, 2017 0

    मुझे याद है कि एक बार बचपन में सारी रात कुरान पड़ रहा था और कई लोग मेरे पास आराम से सो रहे थे| मैंने अपने पूजनीय पिता जी को बोला, “इन सब सोने वालों की ओर देखो, नमाज़ पड़ना…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ
  • 391

    पिता का बचपन

    March 3, 2017 0

    एक दिन एक बेटा अपने पिता को एक बड़े होटल में खाना खिलाने के लिए ले गया| उसका बुजुर्ग पिता बार-बार खाने के साथ अपने कपड़े गंदे कर रहा था और बेटा बार-बार अपने पिता के कपड़े और मुंह साफ…

    ਪੂਰੀ ਕਹਾਣੀ ਪੜ੍ਹੋ